कानपुर:मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, पांच दिन धूल भरी आंधी व बारिश की संभावना

0
400

कानपुर, 10 मई । माह के शुरूआती दिनों में कानपुर सहित आसपास के जनपदों में मौसम में आये बदलाव के चलते काफी जानमाल का नुकसान हुआ था। लेकिन अब एक बार फिर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है।

विभाग के मुताबिक 12 मई से लेकर 16 मई तक तेज धूल भरी आंधी व बारिश की संभावना है। इसके साथ ही बिजली की गरज व चमक भी बनी रहेगी। ऐसे में आम जनमानस इन दिनों सतर्क रहें, तो वहीं मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए जिला प्रशासन ने भी आलाधिकारियों के साथ बैठक कर स्थित से निपटने की तैयारी कर रहा है।
बीते दिनों दिल्ली एनसीआर सहित उत्तर भारत में आंधी तूफान के साथ हल्की बारिश से भारी तबाही हुई थी। जिसमें कानपुर नगर और आसपास के जनपदों में भारी नुकसान हुआ था। केवल कानपुर नगर से इस तबाही में चार लोगों की मौत हो गई थी। जिसके बाद खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कर्नाटक चुनाव का दौरा रद्द कर कानपुर में आलाधिकारियों के साथ बैठक कर तत्काल आपदा प्रभावित लोगों की सहायता का सख्त फरमान सुनाया था।

अभी आपदा प्रभावित लोगों को मुआवजा मिला ही नहीं है कि एक बार फिर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया। मौसम विभाग के मुताबिक उच्च तापमान के चलते कम वायुदाब का क्षेत्र बन गया है जिससे मौसम में तेजी बदलाव आयेगा। चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डा. अनिरूद्ध दुबे ने बताया कि कानपुर सहित आसपास के जनपदों में बीते कई दिनों से उच्च तापमान होने से कम वायुदाब का क्षेत्र बन रहा है।

जिससे आगामी 12 मई से लेकर 16 मई तक मौसम में एक बार फिर तेजी से बदलाव आएगा। कहा कि इन दिनों भीषण धूल भरी आंधी, तूफान, बारिश और बिजली की चमक व गरज बनी रहेगी। जिससे आम जन इन दिनों विशेष सावधानी बरतें और खासतौर पर सांयकाल तो और अधिक, क्योंकि कम वायुदाब के क्षेत्र बनने से शाम को ही अधिक मौसम खराब होने की संभावना रहेगी।

जिला प्रशासन ने बुलाई बैठक
मौसम विभाग द्वारा जारी अलर्ट के बाद जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने फौरन आपदा विभाग सहित संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट में बैठक की। जिलाधिकारी ने साफ कहा कि सभी विभाग इन दौरान पूरी तरह से अलर्ट रहें और किसी भी आपदा से निपटने के लिए पीड़ित लोगों को तत्काल सहायता पहुंचाने का काम करें।

यह भी सख्त निर्देश दिया कि किसी भी अधिकारी व कर्मचारी का इन दिनों मोबाइल स्विच ऑफ नहीं होना चाहिये। इसके अलावा कलेक्ट्रेट में एक कंट्रोल रूम खोलने के लिए कहा कि इसमें सभी अधिकारी किसी भी तरह की जानकारी होने पर तत्काल अवगत करायें। जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों को सख्त निर्देश दिया कि राजस्व से संबंधित कर्मचारियों से बराबर संपर्क बनाये रखें और किसी भी प्रकार की आपदा की जानकारी होने पर तत्काल अवगत करायें।

यह रहा तापमान
कानपुर जनपद में बीते कई दिनों से चिलचिलाती धूप के साथ गर्म हवा के थपेड़ों से लोगों का बुरा हाल रहा और सुबह आठ बजे से ही धूप के साथ शुष्क हवा लोगों को परेशान कर रही है। तो वहीं गुरूवार को उत्तरी हवाओं के चलते तापमान में कुछ बढ़ोत्तरी और हो गई। जिससे लू के थपेड़ों से लोगों को निजात नहीं मिल सकी और दोपहर में सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा।

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डा. अनिरूद्ध दुबे ने बताया कि जहां बुधवार को सुबह नौ बजे तक 25 डिग्री पारा रहा तो वहीं गुरूवार को 27 डिग्री रहा, और दोपहर तक अधिकतम पारा 39.2 डिग्री दर्ज किया जा सका। तो वहीं दिन में आंख मिचौली खेल रही धूप के चलते न्यूनतम तापमान में कुछ कमी रही और 22.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

कहा, सुबह आर्द्रता 15 फीसदी बढ़कर 63 फीसदी रही। तो वहीं दोपहर की आर्द्रता में आठ फीसदी की घटोत्तरी हुई और 37 फीसदी दर्ज की गई। बताया कि गुरूवार को उत्तरी हवाएं चल रहीं हैं जिनकी रफ्तार 3.2 किलोमीटर प्रति घंटे रही और दो दिन बाद इनकी रफ्तार में अमूलचूक परिवर्तन देखने को मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here