कानपुर: पुत्र की मौत पर वृद्ध पिता को नही मिला न्याय

0
137

:-

तत्कालीन पनकी थानाध्यक्ष पर कारखाना मालिको से मिली-भगत का लगाया आरोप
कानपुर नगर:गुजैनी के रहने वाले सुन्दर लाल समुद्रे ने प्रेसक्लब में वार्ता के दौरान बताया कि उनका पुत्र रूपेन्द्र कुमार जो संजय अग्रवाल जैन के तेल के कारखाने में काम करता था और उसकी अगस्त 2016 में काम के दौरान कारखाने में प्रयोग होने वाले खतरनाक रसायन के प्रभाव के कारण उसकी मौत हो गयी थी। उन्होने बताया कि इस प्रकरण की रिपोर्ट पनकी थाने में की गयी थी।

पीडित पिता ने पनकी थानाध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए बताया कि थानाध्यक्ष ने अपनी विवेचना के दौरान कारखाना मालिक के साथ मिलकर विवेचना में घोर लापरवाही की और मामले को दबा दिया। उन्होने यह भी बताया कि यदि समय रहते उनके पुत्र को इलाज मिल जाता तो उसकी जान भी बच सकती थी, लेकिन घटना पर लापरवाही बरती गयी।

बताया कि उनके पुत्र का इलाज कारखाने ने मालिकों ने न कराकर पुलिस से सांठ-गांठ कर ली। उन्होने कहा कि उनके पुत्र की मौत के तत्काल बाद कारखाने में रखा केमिकल का नमूना ले लिया गया होता या मौत के कारणों की सही ढंग से जांच की गयी होती तो आज इस हादसे में संलिप्त लोग जेल में होते।

उन्होने बताया कि पुत्र की मौत के बाद उन्होने पुलिस विभाग के कई बडे अधिकारियों के चक्कर लगाये लेकिन उन्हे आश्वासन के अलावा कुछ नही मिला और विवेचना के दौरान फर्जी गवाह बनाकर मामले को दबा दिया गया। इस दौरान उनको किसी प्रकार की न तो कोई जानकारी ही दी गयी और न ही उनके कुछ पूंछा गया। पीडित पिता अब भी अपने पुत्र की मौत पर न्याय की आस लिये दर-दर भटक रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here