योगी राज में पुलिस ने 37 खूंखार अपराधियों को मार गिराया

0
57

भारतीय जनता पार्टी ने कानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश विधानसभा में सपा के हंगामे को आज नाटक करार दिया. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि समाजवादी पार्टी योगी सरकार की अपराध और अपराधियों पर सख्ती से नाखुश है. पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार की सरपरस्ती में उत्तर प्रदेश में अवैध असलहा उद्योग पला-बढ़ा था. उन्होंने कहा कि अवैध हथियारों की सुलभ उपलब्धता से उत्तर प्रदेश क्राइम प्रदेश बन गया था. अपराधी पुलिस पर गोली चलाने से भी परहेज नहीं करते थे.

उन्होंने कहा कि बदमाशों के बुलन्द हौसले को अवैध हथियारों ने अधिक दुस्साहसी बना दिया था. त्रिपाठी ने कहा, भाजपा सरकार बनने के बाद अवैध हथियारों की फैक्टरियों के विरुद्ध पुलिस ने व्यापक अभियान चलाया, जिसके परिणामस्वरूप पिछले नौ महीनों में 154 अवैध शस्त्र कारखानों को पुलिस ने छापा मारकर बंद कराया. प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अपराध नियंत्रण की इच्छाशक्ति को कठोरता से लागू कराते हुए राज्य पुलिस ने 37 खूंखार अपराधियों को मुठभेड़ में मार गिराया, वहीं 1853 ऐसे अपराधियों को गिरफ्तार किया जिन पर पहले से ही इनाम घोषित था.

संगठित अपराध पर अंकुश लगाने के लिए अवैध हथियारों पर लगाम लगाना जरूरी था और अवैध शस्त्र कारखानों पर कड़ाई बरतने से अपराध का ग्राफ नीचे आया है. उन्होंने बताया कि अब तक पुलिस कार्रवाई में 12,732 अवैध देशी पिस्टल, 527 अवैध देशी रिवाल्वर, 141 अवैध देशी बन्दूक, 105 अवैध देशी राइफल, तीन स्टेनगन और कार्बाइन, 1392 देशी बम बरामद हुए हैं. त्रिपाठी ने कहा कि पुलिस कार्रवाई में 5950 डेटोनेटर, एक एसएलआर और 25,669 फैक्टरी निर्मित अवैध कारतूस भी बरामद हुए हैं.

उन्होंने कहा कि अवैध हथियारों की इतनी बड़ी बरामदगी यह बताने के लिए पर्याप्त है कि पिछली सरकार में अपराध और अपराधियों ने कितनी गहरी जड़ें जमा ली थीं. पुलिस की प्रभावी कार्रवाई से परेशान लोग सदन में हंगामा मचा रहे हैं लेकिन जनता सुकून महसूस कर रही है. त्रिपाठी ने कहा कि अपराध और अपराधियों के विरुद्ध अभियान निरन्तर जारी रहेगा. भू-माफिया, शराब माफिया, नकल माफिया, खनन माफिया सहित अवैध हथियारों के तस्करों पर योगी सरकार प्रभावी कठोर कार्यवाही कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here