कानपुर:मार्ग दुर्घटना में पांच की मौत, एक घायल

0
169

कानपुर, 30 अप्रैल । उत्तर प्रदेश के कानपुर जपनद में अलग-अलग मार्ग दुर्घटनों में पांच लोगों की मौत हो गई और एक युवक गम्भीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने चारों के शवों की शिनाख्त कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

महाराजपुर थानाक्षेत्र में रहने वाले सुखराम का बेटा अजय किसान था। परिवार में मां सूरजकली, पत्नी आरती और डेढ़ साल की बेटी है। अजय रविवार को पड़ोस में रहने वाले राम खिलावन के बेटे रोहित के साथ दोस्त की बहन की शादी में शामिल होने गये थे। रात को वहां से वापस घर लौटते समय सरसौल के पास तेज रफ्तार डीसीएम ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी।

जिससे बाइक सवार दोनों दोस्त अनियंत्रित होकर गिर पड़े और गम्भीर रूप से घायल हो गये। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों को पास के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहां बीती रात इलाज के दौरान दोनों युवको ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने बाइक नम्बर के आधार पर मृतकों की शिनाख्त की परिजनों को घटना की जानकारी दी।

नौबस्ता थानाक्षेत्र के आवास विकास हंसपुरम में रहने वाले संतोष कुमार वर्मा (65) सिलाई का काम करते थे। परिवार में पत्नी सरला, बेटे कुलदीप और शादीशुदा दो बेटियां हैं। सोमवार को वह साइकिल से काम करने घर से मछरिया की तरफ जा रहे थे। मछरिया चौराह के पास पहुंचते ही पीछे से आ रही तेज रफ्तार कार साइकिल में टक्कर मारकर मौके से फरार हो गई। हादसे में वह गम्भीर रूप से घायल हो गये। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बुजुर्ग को उपचार के लिए पास के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहां कुछ देर चले इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

बिल्हौर थानाक्षेत्र के औरंगपुर में रहने वाले मुंशीलाल (60) किसान थे। परिवार में पत्नी रामबेटी, तीन बेटे शिवकुमार, शिवराय और शिव लाल हैं। किसान रविवार को चौबेपुर स्थित एक शादी समारोह में शमिल होने आये थें। यहां से वापस वह वापस घर टेम्पो से लौट रहे थे। धौसलार के पास टेम्पो से उतरकर रोड करते समय तेज रफ्तार वाहन टक्कर मारकर मौके से फरार हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल किसान को उपचार के लिए पास के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहां सोमवार को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

शिवराजपुर में रहने वाले छुन्ना का बेटा सुनील (25) बिजली का काम करता था। परिवार में मां प्रेमा, भाई सुभाष और दो बहनें है। शनिवार को युवक काम करने बिठूर थानाक्षेत्र अंतर्गत मंधना गया था। वहां से वह अपने दोस्त शिवम के साथ दूसरी जगह काम करने जा रहा था। मंधना चौकी के पास पहुंचने पर तेज रफ्तार डीसीएम ने बाइक में टक्कर मार दी। जिससे दोनों लोग गम्भीर रूप से घायल हो गये। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को उपचार के लिए हैलट अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर सोमवार तड़के सुनील की मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची अपने थानाक्षेत्रों की पुलिस ने चारों शवों को कब्जें मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वही हैलट अस्पताल में भर्ती शिवम के परिजनों ने महाराजपुर स्थित एक निजी हॉस्पिटल में उसको भर्ती कराया। जहां उसकी पहले से बेहतर बाताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here