कानपुर:युवक की हत्या पर परिजनों ने शव रख जीटी रोड़ को किया जाम

0
338

कानपुर, 26 अप्रैल । जे.के. कैंसर संस्थान का प्राइवेट कर्मी दो दिन पहले लापता हो गया और पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर इतिश्री कर लिया। लेकिन युवक का शव हैलट अस्पताल की टंकी में मिला और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हो गई। जिसके बाद गुस्साए परिजनों ने गुरूवार को पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर जीटी रोड़ को जाम कर दिया। पुलिस और जिला प्रशासन के आलाधिकारियों द्वारा हत्यारोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया। जिसके बाद करीब एक घंटे बाद सड़क पर यातायात शुरू हो सका।

स्वरूप नगर थानाक्षेत्र में रहने वाली शकुंतला देवी जे.के. कैंसर संस्थान में नौकरी करती है। यहीं पर उनका 25 वर्षीय बेटा जॉनी भी प्राइवेट नौकरी करता था। दो दिन पहले जॉनी लापता हो गया और परिजनों ने अनहोनी के चलते थाना में कुछ लोगों के खिलाफ तहरीर दी। लेकिन पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर मामले से पल्ला झाड़ लिया। जिसके बाद बीती रात हैलट अस्पताल में बनी पानी की टंकी में बदबू आने पर कर्मचारियों ने पुलिस को सूचना दी।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने टंकी से युवक का शव निकाला और दर्ज हुई गुमशुदगी में लगी फोटो से शिनाख्त कर परिजनों को जानकारी दी। गुरूवार को सुबह पहुंचे परिजनों ने हत्या का आरोप लगा हंगामा काटा और दोपहर बाद पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने में जब हत्या की पुष्टि हो गई तो परिजनों के साथ कई दर्जन लोगों ने करीब चार बजे शहर की मुख्य सड़क जीटी रोड़ पर शव रखकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

सूचना पर जिला प्रशासन और पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और शव हटाने की बात कही लेकिन परिजन पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा जमकर विरोध दर्ज कराया। अपर नगर मजिस्ट्रेट सप्तम हरिशचन्द्र यादव, पुलिस अधीक्षक पश्चिमी संजीव सुमन व सीओ स्वरूप नगर अभय नारायण राय ने हत्यारोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया और दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच के भी आदेश दिये। जिसके बाद परिजनों ने शव को हटाकर सड़क का यातायात चलने दिया। इस दौरान करीब दो किलोमीटर तक दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गईं।

बीते दिनों हुआ था जानलेवा हमला

मृतक के बड़े भाई मनोज ने बताया कि जॉनी का साईं मेडिकल स्टोर संचालक जितेंद्र उर्फ लोई से काफी पुराना विवाद चल रहा था। इसी दौरान पड़ोस के रहने वाले राहुल से कुछ समय पहले झगड़ा हो गया था। राहुल को शक था कि उसकी पत्नी से जॉनी का कोई संबंध है। इसी को लेकर विवाद हुआ था। तब राहुल और मेडिकल स्टोर संचालक जितेंद्र उर्फ लोई ने हाथ मिला लिया और जॉनी को जान से मारने की धमकी दी। कुछ दिन पहले जितेन्द्र, राहुल, मोहम्मद सैफ उर्फ बिल्लू, लकी शर्मा, राजू करिया अमन निगम ने जॉनी पर जानलेवा हमला किया था और घर के बाहर गोली चलाई थी। पुलिस ने तहरीर लेकर रिपोर्ट भी लिखी थी लेकिन किसी को पकड़ा नहीं था और ना ही कोई कार्रवाई की थी। जबकि हमलावरों में मोहम्मद सैफ हिस्ट्रीशीटर अल्लाहरखा का भाई, जिसने जुआ पकड़ने गयी पुलिस पर फायरिंग की थी।

एसपी का कहना
पुलिस अधीक्षक पश्चिमी ने बताया कि हत्यारोपियों जॉनी की हत्या करने के बाद शव को हैलेट के वार्ड 50 के पास पानी की टंकी के पास बने पानी के टैंक में शव को फेक दिया। उसके बदन में सेंडो बनियान के अलावा कोई कपड़ा नहीं था। चोट के निशान भी थे और पोस्मार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई है। परिजनों की तहरीर पर उपरोक्त हत्यारोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और पुलिस उनके घरों में दबिश दे रही है। फिलहाल सभी आरोपी घर में ताला डालकर परिवार के साथ फरार हो गये है। सीओ ने बताया कि जल्द ही हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here