कानपुर :स्कूल जा रहे मासूम छात्र का नौकर ने किया अपहरण, मांगी पांच करोड़ फिरौती

0
517

-हरकत में आई पुलिस व क्राइम ब्रांच के चलते बस में छात्र को छोड़कर भागे अपहृता
कानपुर, 16 अप्रैल । उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में नजीराबाद थानाक्षेत्र में ई-रिक्शा से स्कूल जा रहे मासूम छात्र का बाइक सवारों ने तमंचे के बल पर अपहरण कर लिया। सूचना मिलते ही जनपद की पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच की टीमें सक्रिय हो गई और जिले की सीमाओं की सील कर दिया गया। इस बीच अपहृर्ताओं ने छात्र के हॉस्टल संचालक पिता को फोन कर पांच करोड़ की फिरौती मांगी।

लेकिन पुलिस की मुस्तैदी के चलते अपहरणकर्ता छात्र को बस में छोड़कर भाग निकले। पुलिस ने फतेहपुर जनपद से छात्र को सकुशल बरामद कर लिया। अपहरण करने वाली घटना में पूर्व नौकर की भूमिका मानते हुए पुलिस उसकी धरपकड़ में जुट गई है। नजीराबाद के रानीगंज में रहने वाले मनजीत शुक्ला हॉस्टल संचालक है। इनका सात वर्षीय इकलौता बेटा आदित्य उर्फ नंदू जवाहर नगर स्थित ओंकारेश्वर सरस्वती शिक्षा निकेतन में कक्षा तीन का छात्र है।

सोमवार को छात्र अपने चचेरे भाईयों रूद्रांश (7) व अक्षत (5) व दो अन्य छात्रों के साथ ई-रिक्शा से सुबह आठ बजे स्कूल जा रहे थे। जैसे ही ई-रिक्शा जेके मंदिर के पीछे लाजपत नगर नहरिया क्षेत्र में पहुंचा, वैसे ही मोटर साइकिल पर सवार दो नकाबपोश बदमाश आये और छात्रों में नंदू नाम के बच्चे के बारे में पूछने लगे। तभी पीछे बैठे बदमाश ने रिक्शा से अक्षत को उठाने लगा।

जिस पर ई-रिक्शा चालक ने विरोध किया तो बदमाशों ने उस पर तमंचा तान दिया। तभी आदित्य उर्फ नंदू बोला कि मैं हूं नंदू। यह जानते ही बदमाशों ने नंदू को जबरन उठाया और अपहरण कर मासूम छात्र नंदू को बाइक से रंगोली गेस्ट हाउस की ओर भाग निकले। घबराये ई-रिक्शा चालक ने छात्र के परिजनों व 100 नम्बर पर पुलिस को अपहरण की सूचना दी। सूचना मिलते ही चार थानों का फोर्स मौके पर पहुंचा और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के साथ आईजी व एडीजी की क्राइम ब्रांच की टीमें जिले भर में फैल गई। यहीं नहीं छात्र के अपहरण की जानकारी मिलते ही सभी थानाक्षेत्रों व जनपद की सीमाओं की सील कर वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी।
बेटे के अपहरण की जानकारी पर हॉस्टल संचालक सहित पूरे परिवार में कोहराम मच गया। इस बीच अपहरणकर्ता ने फोन कर हॉस्टल संचालक के पिता से पांच करोड़ रूपये देकर बेटे को सही सलाम छोड़ने की की फिरौती मांगी। भारी-भरकम फिरौती की रकम मांगे जाने की जानकारी मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार ने तेज तर्रार इंस्पेक्टरों को बदमाशों की धरपकड़ के साथ बच्चे को सकुशल बरामदगी में जुट गये। जांच में जुटी पुलिस ने घटनास्थल के पास ही एक दुकान पर लगे कैमरे में बाइक सवार बदमाशों को अपहृत बच्चे को ले जाती हुई तस्वीर मिल गई।

पुलिस बाइक नम्बर के आधार पर अपहरणकर्ताओं की तलाश में जुट ही थी कि फतेहपुर जा रही बस के चालक ने बच्चे के पिता को फोन कर बताया कि आपका बच्चा उनकी बस में है। जानकारी मिलते ही पुलिस टीमें पहुंची और बच्चे को खागा से सकुशल बरामद कर लिया। एसएसपी ने बताया कि अपहृत बच्चे को बरामद कर लिया गया। सम्भवतः पुलिस का दबाव बढ़ता देख बदमाश बच्चे को बस में छोड़कर भाग निकले। बदमाशों की शिनाख्त के प्रयास किया जा रहा है। जल्द ही अपहृर्ताओं को दबोच कर घटना के पीछे रहस्य का खुलासा किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here