नई दिल्ली : आग लगने से एक ही परिवार के चार लोगों की दर्दनाक मौत

0
68

नई दिल्ली, 13 अप्रैल । नार्थ वेस्ट दिल्ली के कोहट एन्कलेव के मकान मे गुरुवार देर रात भीषण आग लग गयी। जिसमें दो मासूम बच्चों समेत एक ही परिवार के चार सदस्यों की दर्दनाक मौत हो गयी। जबकि तीन लोगो को दमकल कर्मियों ने रेस्क्यू कर बाहर निकाल लिया। बरहाल मौके पर पहुंची दमकल के कारण आधा दर्जन से ज्यादा गाड़ियों में काबू पा लिया है, और पुलिस मामले की तफ्तीश में जुट गई है।



कोहट एन्कलेव के मकान नंबर 484 में गुरुवार रात करीब ढाई बजे के आसपास बिल्डिंग में आग लग गई और देखते ही देखते आग ने पूरी बिल्डिंग को अपनी चपेट में ले लिया। इस बिल्डिंग में करीब तीन अलग-अलग परिवार अलग-अलग फ्लोर पर कुल मिलाकर 24 -25 लोग रहते हैं। इस बिल्डिंग के फर्स्ट फ्लोर पर रहने वाले नागपाल परिवार इस आग की चपेट में आ गया और परिवार के मुखिया राकेश, उनकी पत्नी टीना, बेटा दिव्यांशु (07 साल) और बेटी श्रेया (03 साल) की इस हादसे में बहुत ही दर्दनाक मौत हो गई है। जबकि बाकी सभी लोग समय रहते सुरक्षित बाहर निकल आये। हादसे में घायल लोगो को रोहिणी के बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनका इलाज चल रहा है। मौके पर पहुंची दिल्ली फ़ायर सर्विस की करीब आधा दर्जन फायर टेंडर ने आग पर काबू पाया और तीन लोगो को पीछे के रास्ते से रेस्क्यू कर बाहर निकाला।


हादसे के समय बिल्डिंग के चौकीदार ने देखा कि ग्राउंड फ्लोर पर लगे इलेक्ट्रिक मीटर में पहले स्पार्किंग हुई और वहीं से आग लगनी शुरू हुई। चौकीदार ने धुंआ देख कर पूरी बिल्डिंग की घंटिया बजा दी जिसको सुनकर पूरी बिल्डिंग के लोग नीचे आ गए लेकिन नागपाल परिवार नीचे नही आ पाया। और अंदर फंसकर परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गयी। दिल्ली फायर सर्विस की टीम को मृतक नागपाल परिवार के चारो सदस्यों के शवों बिल्डिंग की सीढ़ियों के पास मिले थे। जिनकी मौत दम घुटने की वजह से हुई है।


इसी बिल्डिंग के अपर ग्राउंड पर रहने वाले जैन परिवार ने बताया कि गुरुवार रात घर के बिजली मीटर में कोई शॉट सर्किट हुआ था जिसके बाद आग लग गई। और चोकिदार ने सबको समय रहते जगा दिया। जिसकी वजह से लोग बाहर आ गए। पड़ोसियों का आरोप है कि अगर दिल्ली फायर सर्विस की टीम समय से मौके पर आ जाती तो ये हादसा इतना भयानक रूप नही ले पाता, और हादसे मे लोगों की मौत नही होती। इस हादसे में आग की चपेट में बिल्डिंग की पार्किंग में खड़ी 05 गाड़ियां भी आ गई हैं जो पूरी तरह खाक हो गयी है।
मृतक राकेश चांदनी चोक में कपड़े का काम करता है।

बरहाल इस भयानक हादसें में एक ही परिवार के चार सदस्यों की दर्दनाक मौत हो गयी है। जिसके बाद यहां आसपास का माहौल काफी गमगीन हो गया है। फिलहाल पुलिस ने सभी शवो को रोहिणी के अम्बेडकर अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए सुरक्षित रखव दिया है। और मामला दर्ज कर जांच में जुट गयी है। लेकिन इस हादसे ने एक पूरे परिवार को तबाह कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here