बेंगलुरु: आज से एयरो इंडिया शो शुरू, 100 से अधिक देशों के स्वागत के लिए तैयार

0
53

बेंगलुरु|कर्नाटक के बेंगलुरु में आज से एयरो इंडिया शो शुरू हुआ। रनवे टू बिलियन ऑपर्च्युनिटीज थीम पर आयोजित एशिया की सबसे बड़ी विमानन प्रदर्शनी में शुमार ‘एयरो इंडिया’ दुनिया के 100 से भी अधिक देशों के स्वागत के लिए तैयार है। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कार्यक्रम का उदघाटन किया। यरो इंडिया 2019 का 12वां संस्करण 20-24 फरवरी तक बेंगलुरु के येलहंका में आयोजित किया जाएगा। इस शो में 100 से अधिक देश हिस्सा लेंगे। आयोजित होने वाली इस प्रदर्शनी में रक्षा क्षेत्र से जुड़े तमाम उपकरणों को प्रदर्शित किया जाएगा। इस बार के प्रदर्शनी में रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) भी हिस्सा ले रहा है। ‘एयरो इंडिया’ विमानन क्षेत्र में हो रही प्रगति और नए विचारों को दुनिया से साझा करने के लिए बड़ा मंच है। इस शो का मकसद मेक इन इंडिया को बढ़ावा देना भी है।
इसलिए इस बार डीआरडीओ भी बड़े पैमाने पर हिस्सा ले रहा है और करीब 250 प्रणालियों, तकनीकों, क्रियाशील नमूनों और नवोन्मेषों का प्रदर्शन करेगा। रक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। 20 से 24 फरवरी के बीच आयोजित हो रहे एयरो इंडिया शो में एफ/ए-18 सुपर हरनोट समेत अमेरिकी नौसेना के विभिन्न साजोसामान की एक खेप को प्रदर्शित किया जाएगा। इसका मकसद भारत और अमेरिका के बीच रक्षा सहयोग को मजबूत करना है। इसके अलावा, अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के 100 से ज्यादा कर्मी कार्यक्रम में अमेरिकी शिष्टमंडल में शामिल रहेंगे। भारत में अमेरिकी राजदूत केनेथ आई जस्टर ने कहा कि अमेरिका और भारत रक्षा सहयोग को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा, मैं यहां एयरो इंडिया में सबसे बड़ी अमेरिकी भागीदारी के लिए यहां आकर प्रसन्न हूं।
उन्होंने यहां एक बयान में कहा कि हमारे द्विपक्षीय संबंधों को गहरा करने में रक्षा खरीद एक अहम घटक है और यह संतुलित व्यापार रिश्तों में योगदान देता है। इसके अलावा अमेरिका के वाणिज्य मंत्रालय एवं विदेश मंत्रालय के अधिकारी भी कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा, हमारी दोनों सेनाएं आसमान में और समुद्र में नौवहन की स्वतंत्रता की रक्षा करने और आतंकवाद तथा हिंसक चरमपंथ से निपटने के लिए मिलकर काम करती हैं। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) आज से शुरू हो रहे एयरो इंडिया 2019 प्रदर्शनी में बड़े पैमाने पर हिस्सा लेगा और करीब 250 प्रणालियों, तकनीकों, क्रियाशील नमूनों और नवोन्मेषों का प्रदर्शन करेगा।
प्रदर्शनी में अंतरिक्ष और वैमानिकी से जुड़े डीआरडीओ के विभिन्न प्रौद्योगिकी समूहों के तहत 24 से अधिक प्रयोगशालाएं अपने उत्पादों का प्रदर्शन करेंगी और उपलब्धियां गिनांएगी। इसमें भाग लेने वाले समूहों में वैमानिक प्रणाली, मिसाइल, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार प्रणाली शामिल हैं। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि एयरो इंडिया 2019 का 12वां संस्करण 20-24 फरवरी तक बेंगलुरु के येलहंका में आयोजित किया जा रहा है। एयर शो के रिहर्सल के दौरान सूर्यकिरण के दो विमानों के आपस में टकराने से बड़ा हादसा हो गया था। इस दुर्घटना में विमान के एक पायलट की मौत हो गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here