कानपुर में भारत बंद रहा बेअसर, खुले रहे बाजार

0
283

कानपुर, 10 अप्रैल । दलितों संगठनों द्वारा किये गये भारत बंद के जवाब में सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों ने मंगलवार को भारत बंद का एलान किया था। लेकिन कानपुर में इस बंदी का कहीं भी असर नहीं दिखा। शहर के सभी बाजार अन्य दिनों की भांति उसी तरह गुलजार रहे। हालांकि भारत बंदी के डर से बाहरी व्यापारियों ने जरूर दूरी बना ली। तो वहीं इस बंदी के बेअसर होने के पीछे पुलिस की सक्रियता बेहद अहम रही।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा पिछले दिनों एससी-एसटी एक्ट में कुछ बदलाव किया। जिसको दलितों ने इसे कुठाराघात समझा और दलित संगठनों ने दो अप्रैल को भारत बंद कर दिया। बंद के दौरान हुए बवाल में कई लोगों की मौते हो गई और सरकारी व निजी संपत्ति को भारी नुकसान हुआ। जिसके बाद केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में पुर्नविचार याचिका दाखिल कर दी, हालांकि यह याचिका खारिज हो गई। लेकिन सामान्य और पिछड़े वर्ग के लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को सही ठहराते हुए और दलितों के भारत बंद के विरोध में 10 अप्रैल को भारत बंद करने का निर्णय लिया। इसके साथ ही सोशल मीडिया में इसे खूब प्रचारित किया गया पर कानपुर में आयोजकों का कहीं भी अता-पता नहीं रहा।

जिससे यहां पर भारत बंद पूरी तरह से बेअसर रहा और बाजार अन्य दिनों की भांति उसी तरह खुले रहे। हालांकि विजय नगर और किदवई नगर चौराहों सहित दो चार जगहों पर कुछ लोग इकठ्ठा हुए, पर नारेबाजी और दुकानें बंद कराने से पहले ही पुलिस के आगे उनकी एक न चली और लाठी पटककर भगा दिया। तो वहीं पुलिस की सक्रियता को देख शहरवासियों में तो कोई खौफ नहीं रहा पर दूसरे जनपदों से आने वाले व्यापारियों में इसका खौफ रहा। जिसके चलते मंगलवार को बाहरी व्यापारी बाजार करने नाममात्र के आयें।

व्यापारी नेता विनोद कुमार गुप्ता ने बताया कि बाजार पूरी तरह से खुले रहें और दुकानदारी भी उसी तरह हुई। व्यापार मण्डल के नेता कमल उत्तम ने बताया कि भारत बंदी के डर से बाहरी व्यापारी नहीं आए जिससे मंगलवार को थोक विक्रेताओं की दुकाने ठण्डी रहीं। कहा कि चौक बाजार, हटिया, बाजार, लाटूस रोड़, एक्सप्रेस रोड़, मूलगंज, बिरहाना रोड, जनरल गंज, हालसी रोड, नयागंज, नवाबगंज, रावतपुर, किदवई नगर, गुमटी आदि सभी जगहों पर पुलिस की मदद से बाजार पूरी तरह से खुले रहें और यहां पर भारत बंद का कोई भी असर नहीं दिखा।

अपर जिलाधिकारी नगर सतीश पाल ने बताया कि शहर में चारों तरफ सुरक्षा व्यवस्था के चाक-चौबंद इन्तेजामत किये गये हैं। सुरक्षा के मद्देनजर वीडियोग्राफी भी करवाई गई है। साथ ही शहर में धारा 144 लगाने के अलावा सोशल मीडिया पर भी पैनी नजर रखी गई है। जिसके चलते भारत बंद का कानपुर में कोई असर नहीं रहा और शहरवासी अन्य दिनों की भांति अपने काम में व्यस्त रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here