कानपुर (बिधनू): घरेलू हिंसा की शिकार हुई गर्भवती किरन, 5 घँटे तक तड़पती रही सीएचसी गेट के बाहर

0
171

वर्ल्ड खबर एक्सप्रेस न्यूज

कानपुर : डॉक्टर धरती का भगवान होता है और अस्पताल पब्लिक के लिए धरती के भगवान का मंदिर लेकिन आज बिधनू सीएचसी के बाहर घरेलू हिंसा की शिकार महिला दर्द से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गेट के बगल में तकरीबन 5 घँटे तक तड़पती रही न तो उसको मद्द के लिए कोई अस्पताल परिसर का कर्मी आया और न ही कोई एम्बुलेंस थक हार कर उसके परिजन उसे ऑटो में लेकर कानपुर के किसी अस्पताल में लेकर गए है .

क्या है पूरा मामला

बिधनू के शेरपुर गॉव निवासी अवशान ने अपनी बेटी किरन देवी 25 वर्ष की शादी 7 साल पहले बिधनू इलाके के लुधौरी गॉव निवासी आजम से की थी शादी के बाद किरन के 2 साल का बेटा भी है किरन की माँ रजिया ने बताया कि उसकी बेटी का पति आजम शादी के बाद से ही उसके साथ मारपीट किया करता है और उसके साथ कई बार मारपीट भी की है जिसको लेकर गॉव में पंचायत भी हुई ।

7 तारीख को किरन के साथ हुई बर्बरता

रजिया ने बताया कि बीती 7 तारीख को ससुरालीजनों ने उसके साथ जमकर मारपीट करते हुए उसे अकेले विक्रम में बैठाकर लुधौरी से शेरपुर भिजवा दिया और किरन के बेटे को अपने पास ही रख लिया . रजिया ने बताया कि उसकी बेटी 3 माह की गर्भवती है दामाद आजम की पिटाई के बाद वो अपनी बेटी को लेकर बिधनू थाने पहुंची और मामले की शिकायत दर्ज कराते हुए न्याय की गुहार लगाई बिधनु पुलिस ने तहरीर लेकर मामला दर्ज करते हुए पति की तलाश में जुट गई .

आज सुबह बिगड़ गयी किरन की हालत

रजिया ने बताया कि किरन 3 माह के गर्भ से है पति द्वारा जानवरों से भी बद्दतर पिटाई के बाद उनकी बेटी बिस्तर से उठ भी नही पा रही थी आज सुबह किरन की हालत ज्यादा बिगड़ने लगी और प्राइवेटपार्ट से तेजी से रक्तस्त्राव होने लगा परिजनों ने आनन फानन उसे बिधनू सीएचसी पहुंचाया जहां पर से उसे हैलेट रिफर कर दिया गया .

7.30 से 12.30 तक गेट के बाहर तड़पती रही किरन

घरेलू हिंसा की शिकार किरन 7.30 बजे बिधनू सीएचसी से हैलेट के लिए रिफर कर दी गयी 108 व 102 एम्बुलेंस भी उसको नही मिली जिसके चलते किरन तकरीबन 5 घँटे सीएचसी गेट के बाहर दर्द से तड़पती रही और अस्पताल में आने जाने वाले लोगों की भीड़ मूकदर्शक बनकर देखती रही मद्द की आस देख रही पीड़िता के परिजनों ने आखिर में निजी वाहन द्वारा कानपुर लेकर गए हुए है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here