यूपी : आईपीएल से सट्टा बाजार गर्म, एसटीएफ हुई सतर्क

0
287

लखनऊ, 07 अप्रैल । इण्डियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टी-20 किक्रेट मैच का आगाज आज रात आठ बजे वानखेड़े स्टेडियम से होगा। इसका खुमार क्रिकेट प्रेमियों में देखा भी जा रहा है, तो वहीं राजधानी लखनऊ सहित कई जनपदों में सट्टा बाजार गर्म हो गया है। सट्टेबाजों पर अंकुश लगाने के लिए यूपी एसटीएफ ने भी कमर कस ली है।



क्रिकेट का महासमर कहे जाने वाले आईपीएल के शुरू होते ही सट्टेबाज एक बार फिर सक्रिय हो गए हैं। सूत्रों की माने तो करीब डेढ़ माह तक होने वाले इस आईपीएल मैच में सट्टेबाजों के लिए यह एक त्योहार की तरह है, जो नोटों की बौछार करता है। आईपीएल मैच में बल्लेबाज द्वारा खेले गये एक शॉट व गेंदबाज द्वारा फेंकी गयी एक गेंद पर यह सट्टेबाज हजारों रुपये कमा लेते हैं, तो वहीं पल भर में ही लाखों रुपये के व्यारे न्यारे हो जाते हैं।
इस साल भी आईपीएल का सीजन आते ही लखनऊ, कानपुर, अलीगढ़, उन्नाव, सहित तमाम जिलों में आईपीएल की सट्टेबाजी का धंधा जोरों से फलने-फूलने लगा है। वहीं, इन सटोरियों को पकड़ने के लिए यूपी की एसटीएफ टीम ने पैनी नजर रखना शुरु कर दिया है।



एसएसपी बोले होगी कड़ी कार्रवा
एसएसपी एटीएफ अभिषेक सिंह ने कहा कि आईपीएल मैच के दौरान होने वाली सट्टेबाजी पर अंकुश लगाने के लिए हमारी टीम ने काम शुरु कर दिया है। इसके लिए जनपदों की स्थानीय सर्विलांस व साइबर सेल की मदद ली जायेगी। सट्टेबाजों के खिलाफ अभियान चलाकर उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी।
2017 में हुई थी यह बड़ी कार्रवाई
पिछले साल 29 अप्रैल 2017 में हुये आईपीएल मैच के दौरान एसटीएफ के पूर्व एसएसपी अमित पाठक के नेतृत्व में गठित टीम ने गौतमबुद्धनगर में छापेमारी कर मास्टर माइंड रोहित गुप्ता सहित सात लोगों को दबोचा था। इनके कब्जे से टीम ने तकरीबन 27 लाख रुपये, लैपटॉप, नोटबुक, फोन बरामद की थी। फोन रिकार्डिंग से पता चला कि गिरोह का नेटवर्क श्रीलंका, नेपाल दिल्ली और गोवा सहित कई देश विदेश के बुकी से जुड़ा हुआ है। मास्टर माइंड ने इस आईपीएल से करोड़ों रुपये की सम्पति बनायी है।


इसके अलावा 07 मई 2017 को एसटीएफ ने कार्रवाई करते हुए कानपुर के फीलखाना, साकेत नगर, किदवईनगर इलाके से चार सटोरियों को गिरफ्तार किया था। इसमें एक सट्टेबाज लखनऊ के हुसैनगंज निवासी संदीप श्रीवास्तव था। चारों के पास से एसटीएफ ने करीब 19 लाख, 50 हजार रुपये बरामद किये थे।

संदीप लखनऊ के सट्टा बाजार का बड़ा खिलाड़ी था। लम्बे समय से सट्टेबाजी में लिप्त संदीप से कई बड़े लोग जुड़े हैं और करोड़ों का खेल होता है। पिछले साल भी एसटीएफ ने गोवा तक में छापे मारकर लखनऊ के कई बड़े सट्टेबाजों को गिरफ्तार किया था। ऐसे में गिरफ्त से बचने के लिए ही संदीप आईपीएल शुरु होते ही मध्य प्रदेश चला गया और 22 अप्रैल को कानपुर के साकेत नगर स्थित अपने दोस्त के फ्लैट में रहकर सट्टा खिलवा रहा था। ये कार्रवाई उस समय के एएसपी एसटीएफ शहाब रशीद खां के नेतृत्व में हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here