राफेल: आधी रकम का भुगतान कर चुका है भारत, अप्रैल 2022 तक हो जाएगी डिलिवरी

0
122

नई दिल्ली : भारत ने राफेल सौदे के लिए तय की गई राशि 59,000 करोड़ रुपये में से आधे का भुगतान पहले ही कर दिया है। 36 लड़ाकू विमानों के लिए इस सौदे पर 2016 में हस्ताक्षर हुए थे। जिनकीभारतीय आवश्यकतानुसार बदलाव तथा उन्नयन वाले विमान सितंबर-अक्तूबर 2022 तक पूरी तरह ऑपरेशनल (संचालन युक्त) हो जाएंगे क्योंकि उन्हें भारत आने के बाद सॉफ्टवेयर सर्टिफिकेशन के लिए 6 महीने का समय और लगेगा।
रक्षा मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि इस सौदे में 34,000 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है। वहीं इस साल 13,000 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा। 15 प्रतिशत की पहली किस्त का भुगतान सौदे पर हस्ताक्षर होने के बाद सितंबर 2016 में की गई थी। उस समय भारतीय वायुसेना ने परियोजना प्रबंधन और अग्रिम प्रशिक्षण टीमों को फ्रांस में तैनात किया था। तब क्रिटिकल डिजायन रिव्यू और डॉक्यूमेंटेशन के लिए भुगतान किया गया था।
सूत्र ने कहा कि अंतिम किश्त का भुगतान 2022 में किया जाएगा जब सभी विमान भारत आ जाएंगे। वायुसेना को फ्रांस से इस साल सितंबर में चार लड़ाकू विमान मिल जाएंगे। जिसके बाद लगभग 10 पायलटों, 10 उड़ान इंजीनियरों और 40 तकनीशियनों की मुख्य टीम को इसका प्रशिक्षण दिया जाएगा। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार यह विमान हरियाणा के अंबाला एयरबेस में मई 2020 तक पहुंच जाएंगे। वायुसेना की योजना है कि राफेल के एक स्कवाड्रन (18 विमान) को अंबाला और हासिमरा में तैनात किया जाए। जिससे कि पाकिस्तान और चीन पर नजर रखी जा सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here