कानपुर: विवाद के एक सप्ताह बाद मिली लाश

0
60

कानपुर भैंस चराने को लेकर हुए विवाद के बाद से लापता हुए किसान का शव एक सप्ताह बाद पानी भरे खेत में मिलते ही सनसनी फैल गई। जानकारी होते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस की छानबीन के दौरान परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है।

बिठूर थाना क्षेत्र के नारामऊ निवासी देवी दयाल दिवाकर(47) छह जनवरी की दोपहर को भैंस चराने निकला था और लापता हो गया था। भैंस भी गायब हो गई थी। पुलिस को सूचना दिये जाने के साथ परिजन उसकी तलाश कर रहे थे। शनिवार की सुबह पेमपुर लुधौरी गांव के पास खेतो में उसका शव मिलने की सूचना छोटे भाई राजेश को मिली। घटना स्थल पर परिजन पहुंचे तो कोहराम मच गया। उसका शव पानी भरे खेत में पड़ा था, जिसपर परिजनों ने हत्या का आरोप लगया।

शनिवार की सुबह पेमपुर लुधौरी गांव के पास खेतो में उसका शव मिलने की सूचना छोटे भाई राजेश को मिली। घटना स्थल पर परिजन पहुंचे तो कोहराम मच गया। उसका शव पानी भरे खेत में पड़ा था, जिसपर परिजनों ने हत्या का आरोप लगया।

मौके पर पहुंची पुलिस को पिता बनवारी लाल दिवाकर ने बताया कि सात जनवरी को मंधना चौकी में बेटे के लापता होने की सूचना दी थी। नौ जनवरी को परिजनों ने भैंस को नंगापुरवा गांव के एक व्यक्ति के घर पर देखकर दीनदयाल के बारे में पूछा था। इसपर वह मारपीट पर आमादा हो गया था। मंधना पुलिस ने भैंस बरामद करा ली लेकिन आरोपित को भी छोड़ दिया था। परिजनों का आरोप है भैंस चराने के विवाद में उसकी हत्या की गई है। दूसरे दिन तहरीर दी थी लेकिन पुलिस ने गंभीरता नहीं दिखाई। सीओ कल्याणपुर राजेश पांडेय ने परिजनों को समझाकर शांत कराया। बिठूर थाना प्रभारी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखी जाएगी ।

मंधना पुलिस ने भैंस बरामद करा ली लेकिन आरोपित को भी छोड़ दिया था। परिजनों का आरोप है भैंस चराने के विवाद में उसकी हत्या की गई है। दूसरे दिन तहरीर दी थी लेकिन पुलिस ने गंभीरता नहीं दिखाई। सीओ कल्याणपुर राजेश पांडेय ने परिजनों को समझाकर शांत कराया। बिठूर थाना प्रभारी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखी जाएगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here