भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में प्रधानमंत्री ने कहा, कांग्रेस ने उन्हें 12 सालों तक किया परेशान!

0
33

नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान में भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस को जमकर खरी खोटी सुनाई। प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की मानसिकता विकास के हर काम में बाधा पहुंचाने की है। उन्होंने कहा, ‘मेक इन इंडिया की बात हुई, जीएसटी की बात हुई, स्वच्छ भारत की बात हुई तो कांग्रेस विरोध करती है। कांग्रेस अपनी बैठकों में तो जीएसटी का समर्थन करती है लेकिन इसके लिए मध्य रात्रि को बुलाए गए संसद सत्र का बहिष्कार करती है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि वह खुद को देश की हर संस्था से ऊपर समझते हैं। पीएम ने कहा, ‘इन्हें कानून और संस्थाओं की भी परवाह नहीं। इन्होंने खुद को हमेशा देश की सर्वोच्च संस्थाओं से ऊपर माना है। उनकी परवाह नहीं करते- चाहे चुनाव आयोग हो, आरबीआई हो, जांच एजेंसियां हो या सुप्रीम कोर्ट हो।’ उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस अपने वकीलों के माध्यम से न्याय प्रक्रिया में बाधा पहुंचाने की कोशिश कर रही है। सीजेआई को हटाने के लिए महाभियोग लाने की भी कोशिश की थी। कांग्रेस अयोध्या मामले का समाधान नहीं चाहती।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो कांग्रेस ने 12 सालों तक उन्हें परेशान किया, लेकिन उन्हें कानून पर और संस्थाओं पर भरोसा था। मोदी ने कांग्रेस पर देश की संवैधानिक संस्थाओं के अपमान का आरोप लगाया। बीजेपी कार्यकर्ताओं से चुनाव के लिए जी-जान से जुटने का आह्वान करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह लड़ाई सल्तनत और संविधान में आस्था रखने वालों के बीच की है।

एक तरफ वे हैं जो किसी भी तरह अपनी सल्तनत बचाने की जुगत में हैं और एक तरफ हम हैं जो संविधान के लिए लड़ते हैं। पीएम मोदी ने महागठबंधन को लेकर भी विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि कांग्रेस के विरोध में खड़ी हुई और एक-दूसरे का विरोध करने वाली पार्टियां आज एक व्यक्ति को हराने के लिए साथ आ रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here