वर्मा पर चलेगा आपराधिक मामला, कहा- झूठे, तुच्छ आरोपों पर हुआ तबादला

0
40

नई दिल्ली|केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) ने अपनी जांच रिपोर्ट में सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने की सिफारिश की है। मोइन कुरैशी मामले में उनके आचरण को संदिग्ध करार दिया गया है। यह बात मामले से संबंधित एक अधिकारी ने बताई। मुख्य सतर्कता आयुक्त केवी चौधरी और दो सतर्कता आयुक्त शरद कुमार और टीएम भसीन का कहना है कि उन्होंने एजेंसी में दागी अधिकारियों के खिलाफ आईं रिपोर्ट के बावजूद उन्हें शामिल करने की कोशिश की। अधिकारी ने कहा कि सतर्कता आयुक्त शरद कुमार ने पीएम के नेतृत्व वाले चयन पैनल को सतर्कता आयोग द्वारा की गई जांच के बारे में बताया। मुख्य जांच रिपोर्ट 60 पन्नों की है जिसमें 200 एनेक्स पेज हैं। रिपोर्ट में वर्मा के खिलाफ 10 आरोप लगाए गए हैं जिसमें से पांच में वह संदिग्ध पाए गए, दो में आगे जांच की जरुरत है और तीन में वह सही साबित नहीं हुए।
वहीं अपने ऊपर लगे आरोपों पर चुप्पी तोड़ते हुए वर्मा ने गुरुवार रात को एक बयान दिया। उन्होंने कहा कि एक प्रमुख जांच एजेंसी होने के नाते सीबीआई भ्रष्टाचार से निपटती है, इस संस्थान की स्वतंत्रता को संरक्षित और सुरक्षित रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा, संस्था को बिना बाहरी प्रभाव के काम करना चाहिए। मैंने संस्थान की अखंडता को बनाए रखने के प्रयास किए जबकि उसे बर्बाद करने की कोशिशे हुईं। इसे केंद्र सरकार और सीवीसी के 23 अक्तूबर, 2018 को दिए आदेश से देखा जा सकता है जो अधिकार क्षेत्र के बिना थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here