काला हिरण शिकार मामले में सलमान को पांच साल की सजा….

0
295

सैफ, नीलम, सोनाली, तब्बू और दुष्यंत बरी
जोधपुर, 05 अप्रैल । मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट जोधपुर जिला के पीठासीन अधिकारी देवकुमार खत्री ने गुरुवार को फिल्म अभिनेता सलमान खान से जुडे़ करीब बीस साल पुराने काले हिरण शिकार मामले में पांच साल की सजा और दस हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। अन्य आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए आरोपों से दोष मुक्त कर दिया गया है। सजा का ऐलान होते ही उन्हें हिरासत में ले लिया गया। अब उन्हें जोधपुर सेंट्रल जेल ले जाने की तैयारी है। जेल जाने से पहले मेड‍िकल के लिए सलमान खान अस्पताल जाएंगे ।


28 मार्च को हुई थी बहस पूरी
काला हिरण शिकार मामले में आरोपी सलमान खान समेत सभी पक्षों की सुनवाई गत 28 मार्च को पूरी हो गई थी। बहस के बाद मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देवकुमार खत्री ने फैसला सुरक्षित रख लिया था और पांच अप्रैल को अपना फैसला सुनाने की तारीख मुकर्रर की थी। करीब बीस साल से यह मामला कोर्ट में चल रहा है। सलमान के अलावा इसमें सैफ अली खान, नीलम, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और दुष्यंत आरोपी थे। इस केस में गवाहों ने बताया था कि जोधपुर से सटे कांकाणी गांव की सीमा पर एक अक्टूबर 1998 की रात सलमान ने दो काले हिरणों का शिकार किया। उन्होंने कहा था कि सैफ अली, नीलम, सोनाली व तब्बू भी उसके साथ वाहन में सवार थे। इन लोगों पर सलमान को शिकार के लिए उकसाने के आरोप थे।

यह है मामला
वर्ष 1998 में जोधपुर में फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सलमान खान पर तीन अलग-अलग स्थानों पर हिरण का शिकार करने के आरोप लगे थे जिसमें उसकी गिरफ्तारी भी हुई थी। वन्यजीव अधिकारी ललित बोड़ा ने लूणी पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज करवाया था कि सलमान खान तथा अन्य आरोपियों ने 1-2 अक्टूबर 1998 की मध्यरात्रि में कांकाणी गांव की सरहद पर रिवॉल्वर व राइफल का इस्तेमाल करके दो काले हिरणों का शिकार किया था। अभियोजन के अनुसार शिकार के दौरान सलमान खान की जिप्सी में अभिनेता सैफ अली खान, अभिनेत्री नीलम, सोनाली तथा तब्बू भी बैठी थी। तथाकथित चश्मदीद ने भी जिप्सी में महिलाओं के होने का जिक्र किया था।

कोर्ट परिसर में रही कड़ी सुरक्षा व्यवस्था
गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई ने पिछले दिनों सलमान खान को जोधपुर में ही जान से मारने की खुलेआम धमकी दी थी। हालांकि लॉरेंस विश्नोई इन दिनों अजमेर जेल में बंद है लेकिन उसके कई गुर्गे जोधपुर जेल में है और वह लॉरेंस के एक इशारे में पर कुछ भी कर सकते हैं। इसलिए आज पुलिस द्वारा कड़ी सुरक्षा की गई।
डीसीपी पूर्व अमनदीपसिंह ने स्वयं वहां उपस्थित होकर अधीनस्थ अधिकारियों के साथ सलमान व अन्य फिल्मी कलाकारों की सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि सुनवाई के दौरान कोर्ट परिसर में आमजन व अन्य अधिवक्ताओं का प्रवेश निषेध रहा। मीडिया को भी परिचय पत्र के आधार पर कोर्ट परिसर में प्रवेश दिया गया। पुलिस के घेरे में ही उन्हें होटल से कोर्ट लाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here