अगस्त में कानपुर जू में देखने को मिलेंगी तितलियां

0
45

-अनोखे श्रैप्टर्स रेस्टोरेंट्स में गिद्ध, चील को नेस्टिंग कर उन्हें किया जाएगा सरंक्षित
कानपुर, 03 अप्रैल । प्राणि उद्यान आने वाले समय में दर्शकों के लिए दो नयी और अनोखी सौगातें लेकर आ रहा है। यहां जल्द ही प्रदेश का इकलौता बटरफ्लाई पार्क खुलने जा रहा है। जहां रंग-बिरंगी सैकड़ों तितलियां देखने को मिलेंगी। साथ ही यहां विलुप्त हो रहे पक्षियों के खाने-पीने के लिए एक अनोखा श्रैप्टर्स रेस्टोरेंट्स भी खोलने की योजना को भी अमलीजामा पहनाया जा रहा है।

बचपन में हम सबको तितलियां देखने का बड़ा शौक था, बल्कि आज भी लोग उड़ती हुई तितलियों को देखकर उत्साहित हो जाते हैं। ऐसे में अगर आपको भी तितलियां पसंद हैं। तो कानपुर चिड़ियाघर आपकी ख्वाहिश पूरी करने जा रहा है। यहां जल्द ही प्रदेश का पहला बटरफ्लाई पार्क खुलने जा रहा है। पिछले साल से बन रहे इस तितली पार्क के खुलने की उल्टी गिनती शुरु हो चुकी है। अगस्त माह के अंत व सितम्बर माह की शुरूआत तक इसे आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। जिसके बाद अलग-अलग प्रजातियों की कई तितलियां यहां देखने को मिलेगीं।

आपको बता दें यहां पर तितलियों को आकर्षित करने के लिए कुल 100 प्रजातियों के फूलों के पौधे लगाए गए हैं। जिससे तितलियां आकर्षित हों। वहीं अनुमान के मुताबिक अभी तक यहां तितलियों की 50 से भी अधिक प्रजातियों को देखा जा चुका है। प्राणि उद्यान के निदेशक दीपक कुमार ने बताया कि दो करोड़ रुपये की लागत से तैयार होने वाले इस तितली पार्क में होस्ट प्लाट, बाउंड्री वॉल का निर्माण समेत कई काम हो चुके हैं। साथ ही शासन की ओर से बाकी पैसा आना है। जैसे ही बजट आएगा, अधूरे काम पूरे करा लिए जाएंगे। चिड़ियाघर घूमने आए दर्शकों में ललित मोहन व दिव्या सिंह के मुताबिक उन्होंने तितली पार्क के बारे में जब से सुना हुआ है, वो बस इसके जल्द से जल्द खुलने का इंतजार कर रहे हैं।

प्राणि उद्यान के पशु चिकित्सक यूसी श्रीवास्तव ने बताया कि कानपुर चिड़ियाघर अपने यहां आने वाले दर्शकों को बटरफ्लाई पार्क के साथ-साथ एक और सौगात देने की तैयारी में है। दरअसल चिड़ियाघर में ही मौजूद जंगल सफारी के कोने पर चबूतरे की तरह खुला स्थान होगा। जिसे श्रैप्टर्स रेस्टोरेंट्स नाम दिया गया है। इसके आसपास चारों ओर से दीवार बनी होगी और अंदर मांस के टुकड़े डाले जाएंगे। ऊपरी सतह भी खुली होगी, ताकि चिड़ियाघर में आने वाले गिद्ध, चील व अन्य मांसाहारी पक्षी खाना खाने के बहाने यहां आएंगे और नेस्टिंग कर उन्हें यही पर सरंक्षित कर रखा जाएगा।

पशु चिकित्सक ने आगे बताया कि कानपुर चिड़ियाघर में बटरफ्लाई पार्क और रैप्टर्स रेस्टोरेंट खुलने से उम्मीद है कि इससे कानपुर पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही अन्य पर्यटक स्थलों की तरह ही यहां भी देश-विदेश के टूरिस्ट्स की चहलकदमी आने वाले समय में देखने को मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here