कानपुर : घाटमपुर में 7 साल के मासूम की निर्मम हत्या के बाद ,बक्सें में बंद किया शव

0
389

वर्ल्ड खबर एक्सप्रेस न्यूज

कानपुर : घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र में सोमवार देर शाम लापता हुए मासूम का शव घर के सामने रहने वाले युवक के घर के बक्सें में क्षत विक्षत हालात में मिलने से इलाके में दहशत फ़ैल गयी परिजनों व् ग्रामीणों ने आरोपी युवक को पकड़कर जमकर पीटते हुए पुलिस के सुपुर्द कर दिया है. मौके पर पहुंचे पुलिस के आलाधिकारी घटनास्थल की जाँच करते हुए युवक से पूछताछ में जुट गये है .

क्या है पूरा मामला

घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र के रेऊना चौकी क्षेत्र के माखौली गॉव निवासी शिवकरन संखवार का 7 वर्षीय बेटा मिलन शाम 7 बजे घर के बाहर खेलते हुए अचानक संदिग्ध हालातों में लापता हो गया था जब देर रात तक मिलन घर नही लौटा तो परिजन उसके गॉव में खोजने लगे देर रात तक जब मिलन का कोई सुराग नही लगा तो परिजन निराश होकर घर लौट आये और सुबह का इंतजार करने लगे .

कैसे लगा सुराग

शिवकरन ग्रामीणों के साथ अपने मासूम बेटे की तलाश में सुबह से दर दर भटक रहा था तभी किसी ग्रामीण की नजर मिलन के घर के सामने रहने वाले युवक अक्षय पुत्र रामपाल पर गयी उसकी शर्ट में खून के दाग लगे हुए थे जब उससे खून के दागों के बारे में पूछा गया तो वो बात घुमाने लगा जब अक्षय पर ग्रामीणों ने सख्ती बरती और उसके घर पहुंचे तो कमरें के अंदर खून से सनी फर्श देखकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी कमरें के अंदर बक्से तक खून के निशान देख ग्रामीणों ने बक्से को खोला तो उसमें मासूम मिलन के शरीर को चाकू व् कुल्हाड़ी से तीन हिस्सों में काटकर उसे मौत की नींद सुला दिया गया था . ये देख सबकी सांसे थमी की थमी रह गयी और ग्रामीणों ने अक्षय को जमकर पीटना शुरू करते हुए पुलिस को सूचना दी . परिजन कुकर्म के बाद मासूम की हत्या का आरोप लगा रहे है .सूचना पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों से अक्षय को छुड़ाकर अपनी हिरासत में लेते चौकी लेकर पहुंची जहां पर उससे सख्ती से पूछताछ की जा रही है .

घटनास्थल पर पहुंचे एसपी ग्रामीण

हैवानियत से भरी घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर एसपी ग्रामीण व् सर्किल फ़ोर्स मौके पर पहुंचते हुए फारेंसिक टीम की सहायता से घटनास्थल से साक्ष्य जुटाते आलाकत्ल बरामद करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

इनसेट

जिसकों समझा था बेटे जैसा उसी ने छीन लिया कलेजे का टुकड़ा

बताया जाता है की हत्यारें अक्षय के माता पिता कही बाहर रहते है और अक्षय ईट भट्टे में काम करता था कल दोपहर हत्यारे को मासूम की माँ ने अपने घर में खाना खिलाया था उसे क्या पता जिसे वो अपना बेटा समझ कर उसका पेट भर रही है वहीं उसके जिगर के टुकडें को अपनी हवश को बुझाने के बाद उसके कोमल शरीर को टुकडो में बाँटकर मौत की नींद सुला देगा .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here