कानपुर (घाटमपुर); ट्रक से मालदा ले जा रहे थे कछुए की झिल्ली ,STF ने कुछ इस तरह बिछाया जाल

0
647

वर्ल्ड खबर एक्सप्रेस न्यूज

कानपुर : घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र में आज एसटीएफ टीम के हाथ बड़ी सफलता लगी . टीम ने बिस्किट लदे ट्रक में कछुए की लाखों रूपये कीमत की झिल्ली के साथ 2 लोगों को गिरफ्तार करते हुए कार्यवाही में जुटी हुई है .

3 दिन पहले बिछाया था एसटीएफ ने जाल

यूपी एसटीएफ टीम को बीते दिनों कानपुर रेलवे स्टेशन में पश्चिम बंगाल के तस्कर सलीम को 27 किलो कछुए की झिल्ली के साथ गिरफ्तार किया था उसके बाद एसटीएफ की टीमें सक्रीय हो गयी और इटावा के बकेवर इलाके को वाच करने लगी .कल देर रात इटावा के बकेवर से BR25.GA.2459 नम्बर के ट्रक में कछुए की झिल्ली को लोड करके वहां से घाटमपुर के रास्ते मालदा के लिए निकलने की सूचना पर एसटीएफ टीम के ACP शिवेंद्र सिंह प्रभारी कानपुर राजेन्द्र चंद्र त्रिपाठी अपनी टीम के साथ घाटमपुर जहानाबाद क्रासिंग में अपना जल बिछा दिया और जैसे ही ट्रक क्रासिंग के पास पहुंचा टीम ने ट्रक को रोकते हुए चालक व् साथी को हिरासत में लेकर ट्रक की तलाशी लेना शुरू कर दिया .

बिस्किट की आड़ में लाखों की झिल्ली की तस्करी

टीम ने जब ट्रक की तलाशी ली तो उसमे बिस्किट के कार्टून लोड थे जब उनकी नजर कार्टून के पास ही पड़ी 5 बोरियों व् 2 बैग में पड़ी और उन्हें ट्रक से बाहर निकलवाते हुए बैग व् बोरी खोली गयी तो उसमें कछुए झिल्ली बरामद हुई . आनन फानन टीम ने दोनों आरोपियों को ट्रक समेत पकड़कर वनक्षेत्राधिकारी के कार्यालय लेकर पहुंची जहाँ पर दोनों से सख्ती से पूछताछ शुरू हुई ट्रक चालक ने अपना नाम तिलक सिंह निवासी भोगॉव जिला मैनपुरी बताया है वहीं कछुआ तस्कर राजेश यादव जयपुर दौला गया बिहार का रहने वाला बताया जा रहा है . टीम को 1 कुंतल 3 किलो झिल्ली बरामद हुई है

भारत में कीमत 5 हजार तो विदेशों में 6 से 7 गुना ज्यादा

कछुएं की झिल्ली का प्रयोग शक्तिवर्धक दवा बनाने के लिए आमतौर पर विदेशों में होता है भारत के कछुआ तस्कर झिल्ली को 5 हजार रूपये में खरीदकर मालदा से पश्चिम बंगाल के रास्ते बांग्लादेश पहुंचाते है बांग्लादेश पहुंचते ही झिल्ली के दाम बढने शुरू हो जाते है बांग्लादेश से इसे आस पास के कई देशों में आसानी से बेचा जाता है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here