कानपुर :जेल में बंद सरगना को छुड़ाने के लिए करते थे लूट, गिरोह के तीन शातिर गिरफ्तार

0
357

कानपुर, 01 अप्रैल । नौबस्ता थाना पुलिस ने रिजवान लंगड़ा गिरोह के तीन शातिर लुटेरों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है। गिरफ्तार लुटेरें अपने जेल में बंद सरगना को छुड़ाने के लिए चैन स्नेचिंग, लूटपाट, चोरी, राहजनी सहित अन्य आपराधिक वारदातों को अंजाम देते थे। अभियुक्तों के कब्जे से लूट का माल व चोरी की बाइकें बरामद हुई हैं।

पुलिस अधीक्षक दक्षिण अशोक कुमार वर्मा ने नौबस्ता थाना में इलाके में हो रही लूट की घटनाओं का खुलासा करते हुए बताया कि, बीती रात भी क्षेत्र में महिला से सोने की चैन लूट की वारदात को बाइकर्स गैंग ने अंजाम दिया। तुरंत ही सर्किल की फोर्स सक्रिय हुई और लुटेरों की तलाश में जुट गई। इंस्पेक्टर नौबस्ता संतोष कुमार सिंह पुलिस टीम के साथ लुटेरों का सुराग लगाने में जुटे थे।

रविवार भोर के समय इंस्पेक्टर को सूचना मिली कि हमीरपुर रोड बसंत विहार मोड़ के पास कुछ संदिग्ध युवक बाइकों में घूम रहे हैं। सूचना मिलते ही टीम के साथ घेराबंदी करते हुए पुलिस ने तीन युवकों को दबोच लिया। तलाशी में उनके कब्जे से तमंचा निकलने पर उन्हें थाने लाकर पूछताछ की गई तो वह शातिर लंगड़ा गिरोह के लुटेरें सदस्य निकले। एसपी दक्षिण ने बताया कि पकड़े गये लुटेरों से पूछताछ में पता चला कि उनके गिरोह का सरगना रिजवान लंगड़ा लम्बे समय से लूट के मामले में कानपुर जिला जेल में बंद है। जिसे छुड़ाने के लिए पकड़े गये लुटेरों में सीसामऊ निवासी शिवम, बजरिया निवासी अम्बर और चमनगंज निवासी अमन है।

यह लुटेरें आये दिन सुनसान गलियों में जा रही महिलाओं से चेन व पर्स लूट की घटना को अंजाम दे रहे थे। लुटे गये माल से जो पैसे इकट्ठा कर रहे थे, उस पैसे से अपने सरगना लगड़ा की जमानत करने की योजना बना रहे थे। पकड़े गये तीन लुटेरों के पास से तीन सोने की चेन, दो मोटर साइकिल और एक देशी तमंचे, कारतूस बरामद हुए हैं। अभियुक्तों पर पकड़े गए तीनो लुटेरों पर एक दर्जन से अधिक मुकदमें दर्ज है। सभी पर मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेजा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here