IT-इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर 2030 तक भारत को बनाएंगे 10 खरब वाली अर्थव्यवस्था: IBEF

0
30

लंदन : भारत अपने आईटी और इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टरों की बदौलत वर्ष 2030 तक 10 ट्रिलियन (100 खरब) डॉलर वाली अर्थव्यवस्था बन सकता है। ये दावा लंदन में इंडो-यूरोपियन बिजनेस फोरम (आईबीईएफ) ने अपनी नई रिपोर्ट में किया है। भारत और यूरोप के बीच व्यापार समझौतों के लिए समन्वयक की भूमिका निभाने वाले आईबीईएफ ने रिपोर्ट में भारत सरकार की तरफ से उठाए गए सुधारात्मक कदमों को चिह्नित किया है।

साथ ही कहा है कि इन सुधारों ने आईटी और इंफ्रास्ट्रक्चर ही नहीं, बल्कि अक्षय ऊर्जा, रक्षा और लॉजिस्टिक्स के क्षेत्र में भी तरक्की के नए रास्ते खोल दिए हैं। हाउस ऑफ लार्ड्स में नए भारत में निवेश के मौके विषय पर आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टमेंट कॉन्कलेव में आईबीईएफ के इंडिया लीडर सुनील कुमार गुप्ता ने वर्तमान भारत को असंख्य मौकों की जमीन बताया।

उन्होंने आईबीईएफ के इस वार्षिक निवेशक शिखर सम्मेलन में कहा, भारत में युवाओं की बड़ी मौजूदगी के साथ मजबूत औद्योगिक आधार, त्वरित डिजिटलीकरण, इंफ्रास्ट्रक्चर विकास, स्टार्ट-अप के लायक वातावरण और सरकार के विकास को लेकर स्पष्ट दृष्टि मिलकर उसे अन्य विकासशील अर्थव्यवस्थाओं पर अहम प्रतिस्पर्द्धात्मक लाभ दिला रहे हैं।
अनुमान :-

10 अरब डॉलर का इजाफा चालू वित्त वर्ष में हो सकता है भारत के आईटी सेवा निर्यात में
126 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा इस इजाफे के बाद भारत का आईटी सेवा निर्यात
03 नंबर पर पहुंच जाएगा 2022 तक भारत वैश्विक कंस्ट्रक्शन मार्केट में
650 अरब डॉलर का हो जाएगा 2025 तक भारत का रियल एस्टेट सेक्टर
850 अरब डॉलर को 2028 में और 10 खरब डॉलर को 2030 में छू लेगा रियल स्टेट सेक्टर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here