#MeToo की चपेट में गूगल, 48 लोगों को नौकरी से निकाला

0
54

न्यूयॉर्क : गूगल ने ऐलान किया है कि कंपनी ने पिछले दो वर्षों के दौरान यौन उत्पीड़न के आरोप के लिए 48 कर्मचारियों को निकाल दिया है और उन्हें कोई विशेष पैकेज के दिए बिना भेज दिया है। गूगल की तरफ से ये बयान उस रिपोर्ट के बाद आया है जिसमें कहा गया था कि कंपनी ने यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना करने वाले कुछ कर्मचारियों को कंपनी को छोड़ने के लिए मोटी रकम की पेशकश की है।
निकाले गए लोगों में 13 वरिष्ठ प्रबंधक भी शामिल हैं। गूगल की तरफ से ये कार्रवाई न्यूयॉर्क एक खबर के जवाब में की गई है जिसमें कहा गया था कि एंड्रॉयड का निर्माण करने वाले गूगल के एक वरिष्ठ कर्मचारी पर यौन उत्पीड़न के आरोप के बाद उन्हें भारी-भरकम राशि देकर कंपनी से हटाया गया। साथ ही रिपोर्ट में ये भी कहा गया था कि कंपनी ने यौन उत्पीड़न के अन्य आरोपों को भी छिपाने के लिए इसी तरह के काम किए हैं।
गूगल की तरफ से निकाले गए सीनियर अधिकारी एंडी रूबीन या किसी कर्मचारी का नाम स्पष्ट रूप से नहीं दिया गया है। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने अपने कर्मचारियों को भेजे ईमेल में लिखा है कि पिछले कुछ सालों में हमने कई बदलाव किए हैं। गलत व्यवहार करने वालों के खिलाफ कंपनी सख्ती से पेश आएगी। हम सब एक सेफ वर्कप्लेस उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं और आश्वस्त करना चाहते हैं कि यौन उत्पीड़न और अनुचित व्यवहार की हर एक शिकायत का रिव्यू किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here