मांगो को लेकर थमी राजधानी की सड़के, पेट्रोल पंप के साथ टैक्सी-डीटीसी की भी हड़ताल

0
22

नई दिल्ली – ऑटो-टैक्सी के साथ पेट्रोल पंपो की भी हड़ताल, केजरीवाल ने लगाया बीजेपी पर आरोप तीन दिन की छुट्टी के बाद आज दिल्लीवालों को भारी परेशानी उठानी पड़ेगी।

ऑटो और टैक्सी यूनियन की हड़ताल के साथ साथ आज पेट्रोल पंप भी बंद रहने वाले है तो आज पूरी दिल्ली थम ने जैसा माहौल देखने को मिलेगा। ऑटो और टैक्सी यूनियन की हड़ताल के चलते जहां लोगों को मेट्रो के भरोसे रहना पड़ेगा, वहीं पेट्रोल पंप बंद होने के कारण अपने वाहनों को इस्तेमाल करना भी मुश्किल होगा।

डीटीसी के कर्मचारियों ने भी विविध मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन की घोषणा की है और कइयों ने छुट्टी पर रहने का निर्णय किया है। इससे सड़कों पर कम बसें उतरेंगी। ऐसे में जाहिर है कि हड़ताल और प्रदर्शन का सीधा असर दिल्ली की जनता पर पड़ेगा। हड़ताल की पूर्व घोषणा के बावजूद लोगों की सुविधा के लिए वैकल्पिक तौर पर कोई इंतजाम नहीं किया गया है।
पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करने की मांग पर दिल्ली सरकार से कोई जवाब नहीं मिलने पर पेट्रोल पंप मालिकों ने 24 घंटे के लिए पंप बंद करने की घोषणा की है। दिल्ली में चल रही पेट्रोल पंपों की हड़ताल को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी प्रायोजित बताया है। उन्होंने एक ट्वीट करते हुए लिखा, पेट्रोल पंप मालिकों ने उन्हें निजी तौर पर बताया है कि यह हड़ताल बीजेपी प्रायोजित है, जिसका पेट्रोल कंपनियां पूरी तरह समर्थन कर रही हैं।

यहां तक कि पेट्रोल पंप मालिकों पर यह हड़ताल थोपी जा रही है। जनता बीजेपी को उन्हें परेशानी देकर गंदी राजनीति करने के लिए चुनावों में करारा जवाब देगी। वाहन चालकों को सीएनजी तक के लिए भारी परेशानी हो सकती है।
दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों की मानें तो अभी तक उन्हें इस बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। जबकि डीटीसी बसों के न चलने से सीधा भार मेट्रो पर पड़ेगा। मेट्रो अधिकारियों का कहना है कि ऐसी कोई स्थिति देखने को मिलती है तो तत्काल ठोस कदम उठाए जाएंगे।

दिल्ली टैक्सी टूरिस्ट ट्रांसपोर्र्ट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय सम्राट ने कहा कि हड़ताल में काली-पीली टैक्सी, टूरिस्ट टैक्सी और ओला-उबर कंपनियों के चालक भी शामिल होंगेे। प्रदर्शन में ओला-उबर कंपनियों के खिलाफ भी आवाज उठाई जाएगी, जो चालकों को गुलाम बनाकर काम करवा रही हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here