Exclusive: भारत की सारी खुफिया एजेंसियां फेल, प्रधानमंत्री मोदी की जान खतरे में?

0
99

नई दिल्ली। दो महीने में दूसरी बार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जान से मारने वाला धमकीभरा ईमेल पुलिस को भेजा गया। इससे पहले भी अगस्त महीने में एक मेल भेजकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जान से मारने की धमकी दी गई थी। बार-बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ईमेल भेजकर जान से मारने की धमकी दी जा रही है और भारतीय सुरक्षा एजेंसियां कान में तेल डालकर सो रही हैं।

भारत की सारी खुफिया एजेंसियां मसलन रॉ, आईबी, साइबर सेल, पुलिस इंटेलीजेंस, आर्मी इंटेलीजेंस आदि खुफिया और सुरक्षा एजेंसिया कर क्या रही हैं। क्या भारतीय खुफिया और सुरक्षा तंत्र का सारा तानाबाना धमकी देने वाले के सामने नतमस्तक हो चुका है?

किसी देश के राष्ट्रप्रमुख को इस तरह से खुलेआम जान से मारने की धमकी दी जाए और धमकी देने वाले को सरकारी तंत्र और खुफिया तंत्र ढूंढ न पाए इससे बड़ी नाकामी और क्या हो सकती है। नकामी का सवाल भारतीय गृहमंत्रालय के कार्य प्रणाली पर भी उठेगा।

आखिर किस काम का है गृहमंत्रालय जो अपने प्रधानमंत्री को जान से मारने की धमकी देने वाले को पता करने में असहाय हो गया हो। वैसे यह भी सही है कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा तंत्र को भेद पाना दिन में तारे देखने के सामान है, लेकिन अपवाद से भी नकारा नहीं सकता है। इसलिए प्रधानमंत्री को बार-बार जान से मारने की धमकी भरे मेल को हल्के में भी नहीं लिया जा सकता है।

इस बीच कुछ दिन पहले जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मारने की धमकी भरा मेल पुलिस को मिला है उसकी जांच पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां करने में जुटी तो हैं लेकिन उनके हाथ में अभी तक कुछ नहीं लगा है। अगस्त महीने में भी भेजे गए पहले मेल में प्रधानमंत्री पर 19 सितंबर तक हमला करने की बात कही गई थी। एक लाइन में भेजे गए संक्षिप्त मेल में कोई और जानकारी नहीं लिखी थी।

अब दोबारा से धमकी भरा मेल आने से एक बार फिर से हड़कंप मच गया है। इस साल जून महीने में भी पुणे पुलिस को एक पत्र मिला था। उसमें माओवादियों द्वारा प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश रचने की बात सामने आई थी। पत्र में यह लिखा था कि आगामी चुनाव के दौरान राजीव गांधी की तरह प्रधानमंत्री की भी हत्या कर दी जाएगी।

सूत्र बताते हैं कि यह मेल एक सप्ताह पूर्व आया था। दो लाइन में भेजे गए इस मेल में कहा गया है कि पाक खुफिया एजेंसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मारने के लिए दिल्ली में कुछ संदिग्धों को भेज दिया है। इस मेल के बाद पुलिस उस संदिग्ध शख्स की तलाश में जुट गई है। उसकी पहचान के लिए आइपी एड्रेस (जिस कंप्यूटर से मेल भेजा गया है) का पता लगाने के लिए सुरक्षा एजेंसियां एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है। लेकिन फिलहाल हाथ में कुछ नहीं लगा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here