MP: माँ दुर्गा की तरह अपने जीवन में दिव्यगुण धारण करें

0
42

:-बालब्रह्मचारी कन्याएं बनी माँ दुर्गा, माँ सरस्वती, माँ संतोषी औऱ माँ नर्मदा मांँ मिनाक्षी, मांँ लक्ष्मी, मांँ उमा मांँ गायत्री मांँ वैष्णो

:- बेटी बचायो, बेटी पढ़ाओ और नारी शक्ति के सम्मान का दिया संदेश
वर्ल्ड खबर एक्सप्रेस न्यूज
हरदा खिरकीया। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के सेवाकेंद्र द्वारा चैतन्य देवियों की झांकी सजाई गई झांकी देखने के लिए काफी बड़ी संख्या में श्रद्धालुयो की भीड़ उमड़ी झांकी मे साक्षात चैतन्य देवियों को शक्ति रूप में दिखाया गया इनमें दैवी के रूप में माँ दुर्गा माँ सरस्वती माँ लक्ष्मी माँ गायत्री माँ उमा मांँ संतोषी मांँ मिनाक्षी मांँ नर्मदा मांँ वैष्णो के रूप में बालब्रह्मचारी कन्याओं को विराजित किया गया.

झांकी में नवरात्र का आध्यात्मिक रहस्य बताते हुए हरदा सेवाकेंद्र संचालिका बीके भगवती दीदी ने बताया कि झांकी के माध्यम से संदेश दिया गया कि देवियों के पूजन के साथ अपने घर में माँ, बहिन, बेटियों का सम्मान करें। जिस घर में नारी की पूजा होती है वहाँ देवता निवास करते हैं।

हम देखते हैं कि शास्त्रों में 9 देवियों का गायन किया गया है। सभी देवियाँ हमें जीवन में दिव्व गुण धारण करने की प्रेरणा देती हैं। आज सबसे ज्यादा जरूरत अपने मन में देवी का आह्वान करने की है। एक समय इस संसार में दैवी युग था और प्रत्येक मानव सर्वगुणसम्पन्न था।

लेकिन कर्मों में गिरावट आने से ये युग आज कलियुग बन गया है। अब हमें फिर से अपने जीवन में दैवीगुण धारण कर दैवी दुनिया बनाना है। आज से सभी संकल्प लें कि प्रत्येक नारी में शक्ति का रूप देखेंगे, सभी नारियों का सम्मान करेंगे 108 दीपकों से महाआरती नौ चेतन्य देवीयों की गई ये वो ही ब्रह्माकुमारीयां है जिन्होंने अपने जीवन ज्ञान को धारण कर दिव्य बनाया। जिनका अब तक शिव शक्तियो के रूप मे अभी तक गायन हो रहा है बीके राजेश भाई ने प्रजपिता ब्रह्माकुमारी विश्व विधालय का परिचय दिया ।

रिपोर्ट :- संजय नामदेव के साथ अजय कुशवाहा की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here