रूस से S-400 मिसाइल सिस्टम की डील भारत के लिए बुरे संकेत : ट्रंप

0
80

वॉशिंगटन :अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत को धमकी देते कहा कि रूस से एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील करके भारत ने बड़ी गलती की। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पिछले सप्ताह भारत आए थे। इस दौरान दोनों देशों के बीच एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील फाइनल हुई थी। इसे लेकर ट्रम्प ने कहा कि भारत को इसका नतीजा जल्द पता चल जाएगा। आप भी जल्द ही देखेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन की दिल्ली में हुई मुलाकात के दौरान इस समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे।

भारत और रूस के बीच हुए सौदे के बारे में पूछे जाने पर ट्रम्प ने ओवल ऑफिस में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि भारत को पता चल जाएगा। भारत को पता चलने जा रहा है। आप जल्द ही देखेंगे। यह पूछे जाने पर कि ऐसा कब होगा, उन्होंने कहा, आप देखिए, आपकी उम्मीदों से भी जल्द। ट्रंप जब सवालों का जवाब दे रहे थे तो उस वक्त वहां विदेश सचिव माइक पोम्पिओ भी कक्ष में मौजूद थे।

राष्ट्रपति ट्रंप ने चार नवंबर की समयसीमा के बाद भी ईरान से तेल आयात जारी रखने वाले देशों को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि अमरीका उन देशों को देख लेगा। भारत और चीन जैसे देशों द्वारा ईरान से तेल खरीदना जारी रखने के फैसले पर पर पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा कि हम उन्हें देख लेंगे। तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि दो सरकारी तेल कंपनियों ने नवंबर में ईरान से कच्चे तेल के आयात के लिये ऑर्डर दिया है। भारत की अपनी ऊर्जा जरूरते हैं जिसे उसे पूरा करना है।

इंडियन ऑयर कॉरपोरेशन (आईओसी) और रिफाइनरी एवं पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड (एमआरपीएल) ने साथ मिलकर ईरान से 12.5 लाख टन (एमटी) कच्चे तेल के लिये ऑर्डर दिया है। ट्रंप ने मई में ईरान के साथ 2015 में हुए परमाणु समझौते से अपने हाथ वापस खींच लिये थे और उस पर फिर से आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए थे। कुछ प्रतिबंध छह अगस्त से प्रभावी हो गए थे जबकि तेल और बैंकिंग क्षेत्र को प्रभावित करने वाले प्रतिबंध चार नवंबर से प्रभावी होंगे। इराक और सऊदी अरब के बाद ईरान भारत को तेल आपूति करने वाला तीसरा सबसे बड़ा देश है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here