वह मेरा हाथ खीच रहे थे, मुझे धक्का दे रहे थे, मुझपर चिल्ला रहे थे : तनुश्री

0
112

मुंबई :तनुश्री ने नाना पाटेकर और विवेक अग्रिहोत्री की तरफ से भेजे गए कानूनी नोटिस से निपटने के सवाल पर कहा, ‘मैं वास्तव में उस स्थिति से निपटने के बारे में सोच नहीं पाई हूं…

दिग्गज अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन उत्पीडऩ के आरोप लगा चुकीं अभिनेत्री तनुश्री दत्ता का कहना है कि यद्यपि मनोरंजन उद्योग बदमाशों से भरा पड़ा है, लेकिन अभी तक कई सारी महिलाएं आवाज उठाने आगे नहीं आई हैं। उन्हें आशा है कि और भी आवाजें उनके साथ जुड़ेंगी।

तनुश्री ने नाना पाटेकर और विवेक अग्रिहोत्री की तरफ से भेजे गए कानूनी नोटिस से निपटने के सवाल पर कहा, ‘मैं वास्तव में उस स्थिति से निपटने के बारे में सोच नहीं पाई हूं, जब कोई अपराधी कानूनी कदम उठाता है। मैं पीड़ित पक्ष हूं और वे मेरे खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दे रहे हैं। क्या यह हास्यास्पद नहीं है?’ शक्ति कपूर और गजेंद्र चौहान जैसी वरिष्ठ हस्तियां तनुश्री के गंभीर आरोपों का मजाक उड़ा रही हैं। तनुश्री ने इस पर कहा, ‘मैं क्या कह सकती हूं? इस सोच को बदलने की जरूरत है।

हमारे मनोरंजन उद्योग और हमारे समाज में पुरुष सोचते हैं कि महिलाओं का अपमान करना उनका जन्मसिद्ध अधिकार है। आज छेड़खानी करने वाला कल दुष्कर्मी बन जाता है।’ आखिर किस चीज ने इस घटना के बारे में बोलने के लिए उन्हें प्रेरित किया?

तनुश्री ने कहा, ‘घटना की तरफ ध्यान खींचने का मेरा कोई इरादा नहीं था। मैं तो यहां (भारत) छुट्टी मनाने आई हूं। मैं साक्षात्कार दे रही थी, और उसी दौरान मुझसे कार्यस्थल पर यौन उत्पीडऩ के बारे में पूछा गया, और तब मैंने 2008 की घटना का जिक्र किया। मैंने बहुत सारी दूसरी बातें भी बोली थी। लेकिन मीडिया ने इसी को लपक लिया। और मैं खुश हूं। क्योंकि यौन प्रताडना के पूरे मुद्दे पर एक बहस तो छिड़ गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here