कानपुर :अध्यापिका की नृशंस हत्या में हत्यारोपी दम्पति को भेजा गया जेल 

0
444

कानपुर, 21 जनवरी । कल्याणपुर थानाक्षेत्र में एक अध्यापिका अचानक लापता हो गई। पुलिस ने कॉल ट्रेस कर कई मकानों पर दबिश दी। पुलिस ने उसी मकान में दूसरे किरायेदार के यहां से अध्यापिका का छत-विछत शव बैग से बरामद कर लिया। हत्यारोपी दम्पति को गिरफ्तार कर लिया। वारदात के पीछे आपसी विवाद बताया जा रहा है। पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया। 
रावतपुर गांव पुलिस चौकी के पास उर्मिला के मकान पर पिछले पांच वर्षों से अध्यापक रामनरेश किराये पर रहा है। पत्नी रचना (36) भी एक निजी स्कूल में अध्यापिका थी। पति के मुताबिक रचना शनिवार दोपहर बिना बताये कमरे से चली गई। फोन स्विच ऑफ होने के चलते अनहोनी की आशंका पर उन्होंने पुलिस को सूचना दी और गुमशुदगी दर्ज कराई। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर जांच में जुट गई।

 इसी दौरान रचना के फोन से कॉल आई पर बात होने से पहले ही फिर फोन बंद हो गया। जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने मोबाइल की लोकेशन ट्रैस की तो मकान के आस-पास ही मोबाइल की लोकेशन मिली। पुलिस ने देर रात आसपास के कई मकानों पर दबिश दी। जिसके बाद मकान मालिक के ही दूसरे किरायेदार का दरवाजा खुलवाया गया और छानबीन की। पुलिस को बेड के नीचे एक बैग मिला जो खून से लथपत था और उसी में लापता अध्यापिका रचना का छत-विछत शव मिला। पुलिस आरोपी किरायेदार रवि व पति को छोड़कर रवि के साथ रहे रही महिला मंजू को हिरासत में ले लिया। 
पुलिस अधीक्षक पश्चिमी डा. गौरव ग्रोवर ने बताया कि देर रात बैग से शव को बरामद कर लिया गया है। अध्यापिका की हत्या धारदार हथियार और सिलबट्टे से कूच कर की गई है। मृतका के दो छोटी-छोटी बेटियां हैं। मृतका का पति भी एक निजी स्कूल में अध्यापक है। हत्यारोपी दम्पति को हिरासत में लेकर पूछताछ में पता चला है कि दोनों किसी बात को लेकर विवाद हुआ था, जिसको लेकर दम्पति उससे खुन्नस मानने लगे थे। इसी को लेकर शनिवार को उन्होंने उसे कमरे में बुलाया और साजिश के तहत ही वारदात को अंजाम दे डाला। शव को बैग में रखकर ठिकाने लगाने के लिए रात का इंतजार दोनों कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने उनकी साजिश को नाकाम करते हुए गिरफ्तार कर लिया। रविवार को अध्यापिका के हत्यारे दम्पति को पुलिस ने जेल भेज दिया गया। 

LEAVE A REPLY